rakesh-tikait-kisan-post
in , ,

पूर्वांचल में राकेश टिकैत: गाजीपुर में बोले- नए कृषि कानून से देश पर व्यापारियों का हो जाएगा कब्जा

Sharing Is Caring

Kisan Post: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत बुधवार को पूर्वांचल पहुंचे। गाजीपुर जिले के समय भुतहियाटांड स्थित राही पर्यटक गृह में सपा कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत समारोह के दौरान टिकैत ने पत्रकार वार्ता में सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानूनों को सरकार वापस ले और एमएसपी पर ठोस कानून बनाए।

उन्होंने कहा कि इन कानूनों के चलते देश पर व्यापारियों का कब्जा हो जाएगा। जब तक यह वापस नहीं हो जाता किसान आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि वह पूर्वांचल में किसान आंदोलन को मजबूत करने आए हैं। आंदोलन गांव-गांव, खेत और पूरे देश के किसानों से जुड़ा है।

राकेश टिकैत ने कहा कि एमएसपी पर सरकार ठोस कानून बनाए। उन्होंने दावा किया कि नए कृषि कानूनों के वापस न होने तक किसान आंदोलन जारी रहेगा। आंदोलन पूरे देश के किसानों से जुड़ा है। किसान आंदोलन एक वैचारिक लड़ाई है।

कृषि कानूनों में संशोधन को तैयार सरकार, राजनीति कर रहा है विपक्ष: नरेंद्र सिंह तोमर


इसके बाद राकेश टिकैत बलिया के लिए रवाना हो गए। जहां सिकंदरपुर में आयोजित किसान पंचायत को संबोधित करेंगे। इससे पूर्व जनपद में प्रवेश करते समय सिधौना के पास सपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह, सपा जिलाध्यक्ष रामधारी यादव, मन्नू सिंह, आमिर अली, दीपक सिंह मौजूद रहे।

बलिया वीरों की धरती
सुबह साढ़े 7 बजे जब राकेश टिकैत वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचे तो पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि बलिया वीरों की धरती है, जहां से आजादी मिली। उत्तर प्रदेश की जनता आज सड़क पर निकल गई है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में आंदोलन तेज हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बाद हमारी 13 मार्च को कोलकाता में सभा होनी है। मोदी-योगी दोनों पर चुनावी तंज कसते हुए कहा कि वे चुनाव लड़ें, इसका निर्णय जनता करेगी। हमारी लड़ाई किसानों के लिए चलती रहेगी।


Sharing Is Caring

What do you think?

Written by kisan post

Comments

Leave a Reply

Loading…

0

आज केएमपी जाम करेंगे किसान : राकेश टिकैत की अपील- शांति बनाए रखें 

yogi

गेहूं खरीद में किसानों को योगी सरकार ने दी बड़ी राहत, खरीद केंद्रों के लिए होगा रिमोट एप्लिकेशन सेंटर, पढ़े क्या है नियम